Duodenal Ulcer | Peptic Ulcer TREATMENT, CAUSES, SIGNS & SYMPTOMS in Hindi

Duodenal Ulcer | Peptic Ulcer TREATMENT

पेट के अल्सर को गैस्ट्रिक अल्सर के नाम से भी जाना जाता है। पेट में आंत के बाहरी हिस्से में भी ये अल्सर हो सकते है। इस तरह के अल्सर को डुआडनल अल्सर (Duodenal Ulcer) भी कहा जाता है। डुआडनल अल्सर और पेट के अल्सर दोनों को पेप्टिक अल्सर भी कहा जाता है।

पेट में होने वाले छाले एच पाइलोरी (Helicobacter pylori) नाम के बैक्टीरिया के कारण होते हैं। ये बैक्टीरिया पेट में सूजन की स्थिति पैदा कर देते हैं, जिससे घाव या छाले हो जाते हैं। इसे नजरअंदाज करने से आपको आंतरिक रक्तस्राव और संक्रमण की समस्या भी हो सकती है। जानें, क्या हैं पेप्टिक अल्सर के लक्षण, कारण और उपचार (Peptic ulcer: causes, symptoms and treatment)

What is Peptic Ulcer | क्या है पेप्टिक अल्सर?

पेप्टिक अल्सर या छाला पेट के अंदर होने वाला एक घाव होता है, जो पेट के अस्तर या अंदरूनी परत, ग्रासनली के निचले भाग, छोटी आंत में विकसित होता है। यह समस्या तब होती है, जब पेट के अम्ल पाचन तंत्र की सुरक्षात्मक परत श्लेष्म (Mucus) को नष्ट कर देता है। हालांकि, एक्सपर्ट के अनुसार, तैलीय या मसालेदार भोजन और तनाव से पेप्टिक अल्सर नहीं होता। हां, ये चीजें इसके लक्षणों को गंभीर कर सकते हैं।

Duodenal Ulcer Peptic Ulcer

Causes of Duodenal Ulcer | Peptic ulcer

  • एच पाइलोरी बैक्टीरिया के कारण आंत में छाले होते हैं। यह बैक्टीरिया छोटी आंत के ऊतकों को संरक्षित करने वाली म्यूकस झिल्ली में रहता है। आमतौर पर इस बैक्टीरिया से पेट की सेहत को नुकसान नहीं होता है, पर अल्सर या घाव होने के कारण पेट की भीतरी परत में सूजन की स्थिति पैदा कर देता है।
  • पेट के कुछ अम्ल पाचन तंत्र की सुरक्षात्मक परत श्लेष्म को नष्ट कर पेट में छाले की समस्या का कारण बन सकते हैं।
  • कुछ लोग लगातार एस्पिरिन, एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स का सेवन करते हैं, इससे भी पेप्टिक अल्सर होता है।
  • अधिक सिगरेट और शराब पीने के कारण भी पेट में छाले हो सकते हैं।
  • रेडिएशन थेरेपी (radiation therapy) और आमाशय का कैंसर (stomach cancer) भी पेप्टिक अल्सर का कारण बनता है।

Symptoms of Duodenal Ulcer | Peptic ulcer

  • पेट में तेज दर्द होना
  • उल्टी और मितली
  • उल्टी में खून आना
  • वजन घटना
  • बार-बार खट्टी डकार आना
  • भूख में कमी
  • सीने में दर्द या जलन होना
  • पेट में सूजन, जलन
  • सांस लेने में परेशानी महसूस करना
  • मल काला होना और खून आना

INSTRUCTIONS

ऐसे patient खाना खाने से डरते है क्योंकि खाना खाते ही दर्द शुरू हो जाता है। जो कि खाना पूर्णरूप से पचने पर ही रुकता है।

जब अधिक Acidity वाला खाना duodenum में पंहूचता है तो इस acid से duodenum में ulcer हो जाता है। ऐसे में अगर पहले से ulcer हो तथा दोबारा Acidic food Duodenum में जाता है तो यह irritation पैदा करता है। ऐसे patient को चाय, तेल, भूने, मिर्च मसालों से परहेज करना चाहिए तथा ज्यादा liquid diet लेनी चाहिए।

अगर किसी दवा से side effect के तोर पर duodenum ulcer हुए हो तो इन्हें तुरंत रोक देनी चाहिये ।

ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करना चाहिए।

DUODENAL ULCER के प्रभावी निदान हेतु patient को Barium पिला कर X-ray किया जाना चाहिए।

Duodenal Ulcer Peptic Ulcer TREATMENT

TREATMENT OF  Duodenal Ulcer | Peptic ulcer

DUODENAL ULCER की स्थिति में निम्न treatment करना चाहिए।

Tab Rantac (Ranitidine 150mg) भुखे पेट सुबह शाम 30 दिनों तक

अथवा

Cap Omez (Omeprazole 20mg) भुखे पेट सुबह शाम 30 दिनों तक

Cap Becomex forte (B-Complex with Vitamin C) रोजाना एक गोली 30 दिनों तक

Syp Carafate (Sucralfate 5ml) सुबह दोपहर शाम खाली पेट

दर्द कम करने हेतु

Tab Antigyl (Oxyphenonium 5mg) सुबह दोपहर शाम

Syp Mucaine Gel दो चम्मच सुबह दोपहर शाम

अगर Pain Right lilac Fossa – में हो तथा tenderness हो तो यह Appendicitis हो सकता है अथवा Amoebic colitis हो सकता है।

Home remedies for Duodenal Ulcer | Peptic ulce

Home remedies for Duodenal Ulcer | Peptic ulce

  • गाय का घी में पेप्टिक अल्सर के लिए रामबाण इलाज है। एक चम्मच घी में हल्दी मिलाकर सेवन करने से पेप्टिक अल्सर या पेट का अल्सर और मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं।
  • ठंडा दूध पीना भी पेप्टिक अल्सर में फायदेमंद होता है। आयुर्वेद के अनुसार, ठंडे दूध में बराबर मात्रा में पानी मिलाकर पीने से पेट के अल्सर की परेशानी कुछ दिनों में ठीक हो जाती है।
  • मसालेदार और अधिक तैलीय भोजन करने की बजाय उबला हुआ खाना खाएं। इससे पाचन तंत्र बेहतर होता है। कुछ ही दिनों में पेट के अल्सर से छुटकारा मिल जाएगा।
  • पेट से संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए हींग को बहुत फायदेमंद बताया गया है। पाचन तंत्र बेहतर करने के साथ पेट के अल्सर को ठीक करने के लिए खाने में हींग का इस्तेमाल करें। आप चुटकी भर हींग पाउडर को एक गिलास पानी में डालकर भी पी सकते हैं। पेट दर्द में आराम मिलेगा।

Disclaimer- I am a pharmacist. So i have the right to give information about Medicines to everyone We provide information about medicines here before taking any medicine. Please take the advice of your Docter. this Post are made for the purpose of your Knowledge.

मैं एक फार्मासिस्ट हूं। इसलिए मुझे सभी को दवाओं के बारे में जानकारी देने का अधिकार है, हम कोई भी दवा लेने से पहले यहां दवाओं के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं। कृपया अपने डॉक्टर की सलाह लें। यह पोस्ट आपके ज्ञान के उद्देश्य से बनाई गई है।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment