HEPATITIS (यकृत शोथ) TREATMENT, CAUSES, SIGNS & SYMPTOMS in Hindi

HEPATITIS (यकृत शोथ) Treatment

HEPATITIS (यकृत शोथ)

Liver के inflammation को hepatitis कहते है।

CAUSES OF HEPATITIS (यकृत शोथ)

इसका मुख्य कारण viral infection होता है।

CAUSES OF HEPATITIS (यकृत शोथ)

इसके अलावा कुछ अन्य कारण होते है जो इस प्रकार है

  • अत्यधिक Alcohol का use करना।
  • Auto immune system कि वजह से।

TYPES OF HEPATITIS (यकृत शोथ)

Hepatitis – A

इसका मुख्य कारण Hepatitis A virus का infection होता है जो कि contaminated food तथा water का use करने से होता है।

Hepatitis – B

28 infectious body fluids f blood, vaginal secretion, seme (जिनमें hepatitis B virus present होता है) के द्वारा फैलता है।

Hepatitis B infected injection का use करने से, Infected partner के साथ में sex करने से, infected person की razor share करने से फैलता है।

Hepatitis – C

इसका मुख्य कारण Hepatitis C virus होता है जो कि infected body fluids के direct contact से फेलता है जैसे Sexual intercourse infected Injection कि वजह से

Hepatitis – D

इसका मुख्य कारण Hepatitis D virus है जो कि infected blood के direct contact से फैलता है। यह एक serious liver disease का कारण बनता है।

Hepatitis – E

इसका मुख्य कारण Hepatitis E virus है जो कि Contaminated water supply. poor sanitation से फैलता है।

SIGNS & SYMPTOMS

  • Fatigue (थकान)
  • Dark colored urine (गहरे पीले रंग का मूत्र)
  • Pale stool (पीला मल)
  • Abdominal pain (पेट दर्द)
  • Loss of Appetite (भूख की कमी)
  • Weight loss (वजन घटना)
  • Skin or Eye का color yellow हो जाना।

INVESTIGATION

L.F.T, USG

HEPATITIS (यकृत शोथ) Treatment

HEPATITIS (यकृत शोथ) Treatment

  • Hepatitis के patient को Complete bed rest देना चाहिए।
  • Diet fat free तथा Light Diet देनी चाहिए।
  • Hepatotoxic दवाओं का उपयोग नहीं करना चाहिए।

अधिकतर देखा गया है कि Jaundice के patient में hepatitis B Positive में मिलता है। ऐसी condition में पहले jaundice का treatment किया जाना चाहिए तथा उसके बाद निम्न treatment किया जाना चाहिए।

Acute Hepatitis B treatment

Inj HapaRel (Hepatitis B immunoglobulin) मोंसपेशी में लगाना चाहिए। इसकी प्रथम Dose प्रथम दिन एवं द्वितीय dose छः महीने बाद तथा booster dose पांच साल बाद लगाई जाती है। तथा साथ में

Cap Essenvita (Essential phospholipids with vitamins) रोजाना 1 गोली चार से छः महीने तक लेनी चाहिए।

Chronic Hepatitis B treatment

उपर्युक्त treatment करने के बाद भी अगर hepatitis B positive मिलता है तो ऐसे patient को

Inj Intron A(Interferon Alfa – 2b, Recombinant) सप्ताह में 1 बार 16 week तक लगाया जाना चाहिए, तथा

Tab Lamivir HBV (Lamivudine 100mg) 1 गोली रोजाना

Disclaimer- I am a pharmacist. So i have the right to give information about Medicines to everyone We provide information about medicines here before taking any medicine. Please take the advice of your Docter. this Post are made for the purpose of your Knowledge.

मैं एक फार्मासिस्ट हूं। इसलिए मुझे सभी को दवाओं के बारे में जानकारी देने का अधिकार है, हम कोई भी दवा लेने से पहले यहां दवाओं के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं। कृपया अपने डॉक्टर की सलाह लें। यह पोस्ट आपके ज्ञान के उद्देश्य से बनाई गई है।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment